राष्ट्रीय जांच एजेंसी : बेंगलुरु के रामेश्वरम कैफे ब्लास्ट मामले आतंकियों को कोलकाता की कोर्ट में पेश तीन दिन की ट्रांजिट रिमांड

राष्ट्रीय जांच एजेंसी की टीम बेंगलुरु के रामेश्वरम कैफे ब्लास्ट मामले में मास्टरमाइंड अब्दुल मथीन अहमद ताहा और आरोपी मुसाविर हुसैन शाजिब को कोलकाता से गिरफ्तार किया और इस के साथ ही एजेंसी ने ये भी बताया कि एनआईए अब्दुल मथीन ताहा की पिछले पांच साल से तलाश कर रही थी।

बेंगलुरु में हुए रामेश्वरम कैफे ब्लास्ट के मामले में NIA ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के पुरबा मेदिनीपुर जिले से दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था। दोनों गिरफ्तारी आरोपियो को जांच एजेंसी ने कोलकाता की कोर्ट में पेश कर तीन दिन की ट्रांजिट रिमांड पर बेंगलुरु लाईगई है। दोनों आरोपियों को जांच और पूछताछ के बाद फिर से शनिवार को कोर्ट में पेश किया गया है। कोर्ट यानि अदालत ने दोनों आरोपियों को 10 दिनों की हिरासत में भेज दिया है. जानकारी मिली है कि अब दोनों आरोपियों से पूछताछ करेगी आरोपियों को विस्फोट स्थल पर ले जाया जायेगा ले जाने के बाद स्पॉट इंक्वायरी क्या जाएगी और आरोपियों को उस जगह भी ले जाया जाएगा, जहां वो बेंगलुरु और चेन्नई में रुके हुए थे। इस मामले में कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने प्रतिक्रिया देते हुए NIA और कर्नाटक पुलिस को धन्यवाद किया है

बेंगलुरु कैफे ब्लास्ट के आरोपी ताहा और शाजिब दोनों आरोपी 28 मार्च तक कोलकाता में रहे थे। इन दौरान वो कोलकाता के 4 होटलों में रुके थे। आरोपी ताहा और शाजिब ने 13 मार्च को लेनिन सारनी में पैराडाइज होटल में चेक इन किया था और 14 मार्च को चेक आउट कर लिया था। इसके पहले आरोपी 12 मार्च को चेक इन किया था और यहां से 13 मार्च को चेक आउट कर लिया था इसके बाद वह पैराडाइज इन चले गए थे। उसके बाद में आतंकी इकबालपुर और खिदिरपुर में एक-एक दिन 21 और 22 मार्च तक रुके हुए थे ,और अंत में दोनों आरोपी खिदिरपुर-इकबलपुर के एक अन्य होटल में 25 से 28 मार्च तर रुके थे. सूत्रों के मुताबिक वो यहां से दीघा की ओर चले गए थे।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी दोनों आरोपी को बेंगलुरु लाई

शुक्रवार को एनआईए ने बताया कि आरोपी अब्दुल मथीन अहमद ताहा और मुसाविर हुसैन शाजिब को कोलकाता से लगभग 190 किलोमीटर दूर पूर्व मेदिनीपुर जिले के समुद् तटीय पर्यटन शहर में दीघा के एक होटल से गिरफ्तार किया गया था।साजिशकर्ता अब्दुल मथीन ताहा विस्फोट की योजना बनाने और उसे अंजाम देने का मास्टरमाइंड था और शाजिब ने कैफे में इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) भी रखा थ। इसके साथ ही एजेंसी ने बताया कि एनआईए बेंगलुरु कैफे ब्लास्ट के साजिशकर्ता अब्दुल मथीन ताहा की पिछले पांच पांच साल से तलाश कर रही थी.

18 जगहों पर की कार्रवाई

इसके पहले कर्नाटक में 12, तमिलनाडु में 5 और उत्तर प्रदेश में एक जगह सहित कुल 18 स्थानों पर NIA की टीमों द्वारा कार्रवाई की गई थी। इस दौरान सह-साजिशकर्ता मुजम्मिल शरीफ को गिरफ्तार कर लिया गया था। NIA ने कुछ दिनों पहले प्रेस रिलीज की थी, जिसमें बताया गया था कि ब्लास्ट को किसने अंजाम दिया था.

 

Load More Related Articles
Load More By Mili Patwey
Load More In National
Comments are closed.

Check Also

यमुना एक्सप्रेसवे पर एक्सीडेंट में चकनाचूर क्रेटा कार में फांसी मां-बेटी, एयरबैग से बची जान

यमुना एक्सप्रेसवे पर एक्सीडेंट : –घटना का एक वीडियो सामने आया है जो की कल की है जिसम…