ब्लड प्रेशर क्या है और इसे कैसे ठीक कर सकते है।

ब्लड प्रेशर क्या है :- ब्लड प्रेशर एक ऐसी बीमारी है। जिससे दुनिया में करोड़ो लोग जूझ रहे हैं। इस बीमारी के कई कारण है जैसे तनाव, हार्ट की परेशानी , किडनी की बीमारी भी हो सकती है। बाल्ड प्रेशर वह दवाब है, जिसकी वजह से शरीर की चारो ओर ब्लड को ह्रदय से पम्प किया जाता है । हम सभी जानते है ब्लड लाल रंग की होती है ,जो हमारे शरीर में संचारित होती है।

यह लाल रंग इसलिए होती है क्योंकि इसमें लाल रंग का पिगमेंट है, जिसे हिमोग्लोबिन कहते है ,जिसमे प्लाज्मा , लाल रक्त कोशिकाएं , प्लेटलेट और , श्वेत रक्त कोशिकाएं होते हैं। रक्त ऑक्सीजन, कार्बन डाइऑक्साइड, पचा हुआ भोजन आदि जैसे पदार्थों को शरीर के एक हिस्से से दूसरे हिस्से तक पहुचाने में मदद करता है।

यह रोगों से हमें बचाता है और रक्त का तापमान भी नियंत्रित करता है। जब दिल धड़कता है, तो यह ऊर्जा और ऑक्सीजन को शरीर में पहुचाने के लिए चारों ओर ब्लड को पंप करता है। जैसे ही शरीर में ब्लड फैल जाता हैं, यह रक्त वाहिकाओं के खिलाफ धक्का देता है। रक्त वाहिकाओं को आगे बढ़ाने की ताकत दबाव पैदा करती है, जिसे ब्लड प्रेशर के रूप में जाना जाता है।

इसलिए हम यह परिभाषित कर सकते हैं कि ब्लड प्रेशर वह दबाव है जिसमें शरीर के चारों ओर ब्लड को हृदय के द्वारा पंप किया जाता है। यदि ब्लड प्रेशर हाई होता है तो धमनियों या हृदय पर अतिरिक्त तनाव उत्पन्न होता है और हृदय का दौरा भी पड़ सकता है। इसलिए, ब्लड प्रेशर को सामान्य बनाए रखना बहुत आवश्यक है.इसके लिए योग करना चाहिए ताकि ब्लड प्रेशर नार्मल रहे । ब्लड प्रेशर दो तरह के होते है  हाई ब्लड प्रेशर और लो ब्लड प्रेशर ।

हाई ब्लड प्रेशर :- हाई ब्लड प्रेशर होने पर तेज सिरदर्द होना ,छाती में दर्द होना ,सांस लेने में तकलीफ,कन्फूजन ओर स्किन पर लाल रंग के चकत्ते जैसे लक्षण हो सकते है। हाई ब्लड प्रेशर में हमारा ह्रदय में ठीक ढंग से खून को पंप नहीं कर सकता है। जिसके कारण दिल का दौरा, और किडनी फेलियर जैसी समस्याएं का सामना करना पड़ सकता है।

लो ब्लड प्रेशर :- लो ब्लड प्रेशर होने पर हमारा ह्रदय औसत मानक से कम खून प्रवाह करता है। इस बीमारी में मरीज को कई दिक्कत का सामना करना पर सकता है । लो ब्लड प्रेशर के लक्षण त्वचा का पीला पड़ना,अत्यधिक थकान , ठंडी और चिपचिपी त्वचा ,चक्कर आना या बेहोशी ,मन स्थिर न होना ,नजर धुंदलापन होना।

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के योग :

यौगिक जॉगिंग :- यौगिक जॉगिंग रोज सुबह उठकर 5 मिनट तक करने से पुरे दिन चुस्त रहते है ,साथ ही ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल रहता है।

अनुलोम विलोग :- अनुलोम विलोग योग ब्लड प्रेशर को कम करने केलिए बहुत फायदेमंद है । अगर आपका ब्लड प्रेशर हाई रहता है तो रोज सुबह 5 -5 मिनट तक अनुलोम विलोग योग करे। अनुलोम विलोग एक ऐसी योगासन है ,जिसे करने से लंग्स हेल्दी रहता है और बॉडी
में ऑक्सीजन का प्रवाह सुचारु रूप से होती है। अनुलोम विलोग करने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है।

भ्रामरी प्राणायाम :- भ्रामरी प्राणायाम मन को शांत करता है साथ ही तनाव और चिंता से राहत भी मिलता है ,और ब्‍लड प्रेशर को संतुलित करता है। तनाव बल्ड प्रेशर का मुख्य कारण है , इस योग को करने से तनाव से मुक्ति मिलती है।

सूर्य नमस्कार :- सूर्य नमस्कार के 12 आसन करने से ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल रहता है और तनाव दूर रहता है साथ ही पाचन दरुस्त रहता है।
सूर्य नमस्कार करने से आलस दूर होती है और दिमाग शांत रहता है। अगर गुस्सा ज्यादा आता है , ब्लड प्रेशर हाई रहता है तो रोज सुबह सूर्य नमस्कार करे।

Load More Related Articles
Load More By Mili Patwey
Load More In Health & Wellness
Comments are closed.

Check Also

यमुना एक्सप्रेसवे पर एक्सीडेंट में चकनाचूर क्रेटा कार में फांसी मां-बेटी, एयरबैग से बची जान

यमुना एक्सप्रेसवे पर एक्सीडेंट : –घटना का एक वीडियो सामने आया है जो की कल की है जिसम…